कौन है मल्लखंब स्टार शौर्यजीत, 10 साल की उम्र में जीता पीएम मोदी का दिल

Jan 1 1900 12:00:00

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात के 10 साल के बच्चे शौर्यजीत खैरे का वीडियो शेयर करते हुए उसकी जमकर सराहना की। वीडियो में शौर्यजीत मल्लखंब करते दिखाई दे रहे हैं। गुजरात इनफॉरमेशन ने अपने ट्वीट में कहा है कि गुजरात के शौर्यजीत नेशनल गेम्स में भाग ले रहे सबसे छोटे मल्लखंब प्लेयर हैं। ट्वीट में नेशनल गेम्स को टेलेंट का पॉवर हाउस करार दिया है। What a star Shauryajit is. https://t.co/8WoNldijfI — Narendra Modi (@narendramodi) October 8, 2022 नेशनल गेम्स में हिस्सा ले रहे शौर्यजीत के इसी वीडियो ने पीएम मोदी को खासा प्रभावित किया। वीडियो को रिट्‍वीट करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि शौर्यजीत क्या स्टार हैं। गौरतलब है कि गुजरात के रहने वाले शौर्यजीत ने 30 सितंबर को अपने पिता के निधन के बावजूद नेशनल गेम्स में हिस्सा लिया है। शौर्यजीत ने कहा कि मेरे पिता का सपना था कि मुझ राष्ट्रीय चैम्पियनशिप में स्वर्ण मिले। वीडियो में शौर्यजीत जबरदस्त करतब दिखा रहे हैं। वह जिम्नास्टिक और कुश्ती का पोज देते हुए एक खंभे के सहारे अपना करतब दिखा रहे हैं। वह कभी खंबे के ऊपर चढ़ जाते हैं तो कभी उसके सहारे तरह-तरह के पोज देते हैं। Edited by : Nrapendra Gupta


		 टी-20 वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में पहुंचने पर रोहित शर्मा ने कह दी सूर्यकुमार यादव के लिए बड़ी बात
Nov 7 2022 1:51:07

टी-20 वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में पहुंचने पर रोहित शर्मा ने कह दी सूर्यकुमार यादव के लिए बड़ी बात

पुनः संशोधित रविवार, 6 नवंबर 2022 (18:46 IST) हमें फॉलो करें मेलबर्न। भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने जिम्बाब्वे के खिलाफ टी-20 विश्व कप के मैच में जीत के नायक रहे सूर्यकुमार यादव की जमकर प्रशंसा करते हुए रविवार को यहां कहा कि जब वे बल्लेबाजी कर रहा हो तो डगआउट में सहज होकर रहा जा सकता है। सूर्यकुमार ने विश्व में टी-20 के नंबर एक बल्लेबाज की ख्याति के अनुरूप प्रदर्शन करते हुए एक और बेहतरीन पारी खेली जिससे भारत ने जिम्बाब्वे को 71 रन से हराकर अपने ग्रुप में शीर्ष पर रहते हुए सेमीफाइनल में जगह बनाई जहां उसका सामना इंग्लैंड से होगा। ALSO READ:T20 World Cup में सेमीफाइनल की तस्वीर हुई साफ, भारत का मुकाबला इंग्लैंड से तो पाक भिड़ेंगा न्यूजीलैंड से रोहित ने मैच के बाद कहा कि जब वे बल्लेबाजी कर रहा होता है तो डगआउट में सहज होकर रहा जा सकता है। जब वे बल्लेबाजी करता है तो काफी संयम के साथ खेलता है। सूर्यकुमार ने 25 गेंदों पर नाबाद 61 रन की पारी खेली जबकि इससे पहले केएल राहुल ने अर्द्धशतक जमाया जिससे भारत ने 5 विकेट पर 186 रन बनाए। जिम्बाब्वे की टीम इसके जवाब में 17.2 ओवर में 115 रन पर आउट हो गईं। रोहित ने कहा कि सूर्यकुमार जो टीम के लिए कर रहा है वह असाधारण है। वह क्रीज पर उतरते ही अपना नैसर्गिक खेल खेलना शुरू करता है और दूसरे खिलाड़ियों पर से दबाव हटाता है। हम उसकी योग्यता से अच्छी तरह वाकिफ हैं और उसके क्रीज पर रहने से दूसरे छोर का बल्लेबाज सहज होकर खेल सकता है। भारतीय कप्तान ने मैच के बारे में कहा कि यह बहुत अच्छा ऑलराउंड प्रदर्शन था जैसा कि हम चाहते थे। हमने क्वालीफाई कर लिया था लेकिन हम जैसा खेलना चाहते थे, उसी तरह का खेल दिखाना चाह रहे थे और हमने ऐसा ही किया। रोहित ने कहा कि एडिलेड ओवल में सेमीफाइनल के लिए परिस्थितियों से जल्द से जल्द सामंजस्य बिठाना महत्वपूर्ण होगा। उन्होंने कहा कि हमारे लिए परिस्थितियों से जल्द से जल्द सामंजस्य बिठाना महत्वपूर्ण होगा। हमने वहां एक मैच खेला था लेकिन हमें जल्द से जल्द तालमेल बिठाना होगा। इंग्लैंड की टीम अच्छी है और यह शानदार मुकाबला होगा। क्रिकेट जगत भले ही सूर्यकुमार यादव की बल्लेबाजी का दीवाना बन गया हो लेकिन मैन ऑफ द मैच बने इस बल्लेबाज ने कहा कि वह कुछ अलग हटकर करने की कोशिश नहीं करते हैं और रणनीति के अनुसार बल्लेबाजी करने का प्रयास करते हैं। सूर्यकुमार ने कहा कि जब मैं और हार्दिक पंड्या बल्लेबाजी कर रहे थे तो मेरा मानना है कि रणनीति स्पष्ट थी। उसने कहा सकारात्मक होकर खेलो और देखते हैं हम कहां तक पहुंचते हैं। हमने गेंद को अच्छी तरह से हिट करना शुरू किया और फिर 20वें ओवर तक नहीं रुके। उन्होंने कहा कि मेरी रणनीति हमेशा स्पष्ट होती है। मैं कुछ अलग हटकर करने की कोशिश नहीं करता हूं। मैं जिस तरह से नेट पर बल्लेबाजी करता हूं उसी तरह से मैच में भी खेलता हूं। जिंबाब्वे के कप्तान क्रेग इर्विन ने कहा कि टूर्नामेंट के शुरू में अच्छा खेल दिखाने के बाद उनकी टीम सही राह से भटक गई। जिंबाब्वे ने शुरू में पाकिस्तान को हराकर बड़ा उलटफेर किया था। उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि हम अपनी रणनीति में बदलाव कर सकते थे। सूर्य कुमार ने आखिर में बेहतरीन बल्लेबाजी की और रिची की यार्कर को अच्छी तरह से खेला जो कि हमारे रणनीति का प्रमुख हिस्सा था। वहां हम इसमें थोड़ा बदलाव कर सकते थे। भाषा Edited by Sudhir Sharma



		 सूर्यकुमार और केएल राहुल के अर्धशतकों ने भारत को जिम्बाब्वे के खिलाफ 186 रनों तक पहुंचाया
Nov 6 2022 9:45:30

सूर्यकुमार और केएल राहुल के अर्धशतकों ने भारत को जिम्बाब्वे के खिलाफ 186 रनों तक पहुंचाया

पुनः संशोधित रविवार, 6 नवंबर 2022 (15:12 IST) हमें फॉलो करें भारत ने सूर्यकुमार यादव (61 नाबाद) और लोकेश राहुल (51) के विस्फोटक अर्द्धशतकों की बदौलत टी20 विश्व कप 2022 के सुपर-12 मैच में ज़िम्बाब्वे के सामने 187 रन का लक्ष्य रखा। भारत ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी चुनी और कप्तान रोहित शर्मा (15) का विकेट जल्दी गंवाने के बावजूद पावरप्ले में 46 रन जोड़ लिये। राहुल और विराट कोहली ने दूसरे विकेट के लिये 60 रन की साझेदारी की। कोहली 25 गेंदों पर 26 रन ही बना सके, लेकिन राहुल ने टूर्नामेंट का अपना दूसरा अर्द्धशतक जड़ते हुए 35 गेंदों पर तीन चौकों और तीन छक्कों की बदौलत 51 रन की पारी खेली। टी20 विश्व कप 2022 में अपना पहला मैच खेल रहे ऋषभ पंत तीन रन बनाकर रायन बर्ल के दर्शनीय कैच की भेंट चढ़ गये। ज़िम्बाब्वे ने मध्य ओवरों में कोहली, राहुल और पंत का विकेट लेकर मैच में वापसी करनी चाही लेकिन सूर्यकुमार ने एक बार फिर अपनी विस्फोटक बल्लेबाजी से विपक्षी टीम को असहाय कर दिया। सूर्यकुमार ने एक और तेज अर्द्धशतक जमाते हुए 25 गेंदों पर छह चौकों और चार छक्कों की बदौलत नाबाद 61 रन बनाये। वह मोहम्मद रिज़वान (2021) के बाद एक साल में 1000 से ज्यादा टी20 अंतरराष्ट्रीय रन बनाने वाले दूसरे बल्लेबाज भी बन गए।सूर्यकुमार की बदौलत भारत ने आखिरी पांच ओवरों में 79 रन जोड़े और 20 ओवरों में 186/5 का स्कोर खड़ा किया। (वार्ता)



		 T20 World Cup में सेमीफाइनल की तस्वीर हुई साफ, भारत का मुकाबला इंग्लैंड से तो पाक भिड़ेंगा न्यूजीलैंड से
Nov 6 2022 9:45:29

T20 World Cup में सेमीफाइनल की तस्वीर हुई साफ, भारत का मुकाबला इंग्लैंड से तो पाक भिड़ेंगा न्यूजीलैंड से

पुनः संशोधित रविवार, 6 नवंबर 2022 (17:30 IST) हमें फॉलो करें मेलबर्न: दुनिया के नंबर एक टी20 बल्लेबाज सूर्यकुमार यादव और लोकेश राहुल के अर्धशतक के बाद रविचंद्रन अश्विन की अगुआई में गेंदबाजों के उम्दा प्रदर्शन से भारत आईसीसी टी20 विश्व कप के सुपर 12 के अपने अंतिम मैच में जिंबाब्वे को 71 रन से हराकर ग्रुप दो में शीर्ष पर रहते हुए सेमीफाइनल में पहुंचा जहां उसकी भिड़ंत 10 नवंबर को इंग्लैंड से होगी। भारत के 187 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए जिंबाब्वे ने अश्विन (22 रन पर तीन विकेट), मोहम्मद शमी (14 रन पर दो विकेट) और हार्दिक पंड्या (16 रन पर दो विकेट) की धारदार गेंदबाजी के सामने नियमित अंतराल पर विकेट गंवाए और पूरी टीम 17.2 ओवर में 115 रन पर ढेर हो गई। जिंबाब्वे की ओर से रेयान बर्ल (35) और सिकंदर रजा (34) ने छठे विकेट के लिए 60 रन की साझेदारी की। इन दोनों के अलावा जिंबाब्वे का कोई बल्लेबाज 20 रन के आंकड़े को भी नहीं छू पाया।भुवनेश्वर कुमार, अर्शदीप सिंह और अक्षर पटेल ने भी एक-एक विकेट चटकाया। भारत ने सूर्यकुमार की 25 गेंद में चार छक्कों और छह चौकों से नाबाद 61 रन की पारी से पांच विकेट पर 186 रन बनाए। सलामी बल्लेबाज राहुल ने भी 35 गेंद में तीन छक्कों और इतने ही चौकों से 51 रन की पारी खेली। सूर्यकुमार ने हार्दिक पंड्या (18 गेंद में 18 रन) के साथ पांचवें विकेट के लिए सिर्फ 5.5 ओवर में 65 रन जोड़े जिससे भारत अंतिम पांच ओवर में 79 रन जुटाने में सफल रहा। भारत ने पांच मैच में चार जीत से आठ अंक जुटाए जबकि दूसरे स्थान पर रहे पाकिस्तान ने इतने ही मैच में छह अंक हासिल किए। भारत अब गुरुवार 10 नवंबर को दूसरे सेमीफाइनल में एडीलेड में इंग्लैंड से भिड़ेगा जबकि पहला सेमीफाइनल न्यूजीलैंड और पाकिस्तान के बीच इससे एक दिन पहले सिडनी में खेला जाएगा। लक्ष्य का पीछा करने उतरे जिंबाब्वे की शुरुआत बेहद खराब रही और टीम ने आठवें ओवर में 36 रन तक ही पांच विकेट गंवा दिए जिससे टीम कभी नहीं उबर सकी। भुवनेश्वर की पारी की पहली ही गेंद पर वेस्ले माधेवेरे (00) ने शॉर्ट कवर पर कोहली को कैच थमा दिया जबकि अर्शदीप सिंह ने अगले ओवर में रगिस चकाब्वा (00) को बोल्ड किया। कप्तान क्रेग इर्विन (13) ने अर्शदीप और भुवनेश्वर पर चौके मारे। सीन विलियम्स (11) ने भी शमी पर छक्का जड़ा लेकिन इस तेज गेंदबाज की गेंद पर भुवनेश्वर को कैच दे बैठे। इर्विन ने भी पंड्या को उन्हीं की गेंद पर कैच थमाया जबकि शमी ने टोनी मुनयोंगा (05) को पगबाधा करके जिंबाब्वे को पांचवां झटका दिया। रजा और बर्ल ने इसके बाद पारी को संवारा। बर्ल ने हार्दिक और अश्विन पर चौके जड़ने के बाद अक्षर पटेल पर पारी का पहला छक्का जड़ा। रजा ने भी अश्विन और अक्षर पर चौके मारे। बर्ल ने अक्षर पर लगातार दो चौके जड़े लेकिन अश्विन ने उन्हें बोल्ड कर दिया। उन्होंने 22 गेंद का सामना करते हुए पांच चौके और एक छक्का मारा। अश्विन ने अगले ओवर में मसाकाद्जा (01) को रोहित के हाथों कैच कराया और फिर नगारवा (01) को बोल्ड किया।अक्षर ने तेंडई चतारा (04) को अपनी ही गेंद पर लपककर भारत को जीत दिलाई। इससे पहले सूर्यकुमार ने बाएं हाथ के तेज गेंदबाज रिचर्ड नगारवा की गेंद पर कुछ आकर्षक शॉट खेले। मुंबई के इस बल्लेबाज ने नगारवा के पारी के अंतिम ओवर में ऑफ साइड के बाहर की गेंद को डीप फाइन लेग पर छह रन के लिए भेजा और फिर पारी की अंतिम गेंद पर फाइन लेग पर छक्का जड़ा। जिंबाब्वे के बाएं हाथ के स्पिनरों वेलिंगटन मसाकाद्जा (दो ओवर में बिना विकेट के 12 रन), सिकंदर रजा (तीन ओवर में 18 रन पर एक विकेट) और सीन विलियम्स (दो ओवर में नौ रन पर दो विकेट) ने बीच के ओवरों में भारत की रन गति पर लगाम कसी। विराट कोहली (25 गेंद में 26 रन) को भी इस बीच शॉट खेलने में परेशानी का सामना करना पड़ा। सूर्यकुमार और पंड्या की तेजतर्रार साझेदारी से हालांकि भारत मजबूत स्कोर तक पहुंचने में सफल रहा।ब्लेसिंग मुजरबानी (चार ओवर में बिना विकेट के 50 रन), नगारवा (चार ओवर में एक विकेट पर 44 रन) और चतारा (चार ओवर में बिना विकेट के 34 रन) महंगे साबित हुए। इस तेज गेंदबाजी तिकड़ी ने मिलकर 12 ओवर में 138 रन लुटाए। भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। कप्तान रोहित शर्मा 15 रन बनाने के बाद मुजरबानी की गेंद को पुल करने की कोशिश में स्क्वायर लेग बाउंड्री पर मसाकाद्जा को कैच दे बैठे। कोहली ने पहली ही गेंद पर मुजरबानी पर चौके से खाता खोला। उन्होंने मसाकाद्जा पर भी चौका जड़ा लेकिन पावर प्ले खत्म होने के बाद उन्हें स्पिनरों के खिलाफ रन बनाने में परेशानी हुई। कोहली अंतत: अनुभवी विलियम्स की गेंद पर लॉफ्टेड ड्राइव खेलने की कोशिश में बर्ल को लांग ऑफ पर कैच दे बैठे। उन्होंने 25 गेंद का सामना करते हुए दो चौके मारे। नगारवा का पारी का पहला ही ओवर मेडन खेलने वाले राहुल ने इसी तेज गेंदबाज पर विकेट के पीछे छक्का जड़ा। दाएं हाथ का यह बल्लेबाज अच्छी लय में दिखा और उन्होंने टूर्नामेंट का अपना दूसरा अर्धशतक पूरा किया। राहुल ने बर्ल की लगातार गेंदों पर लांग ऑन पर छक्का और फिर स्लॉग स्वीप से चौका मारा। उन्होंने रजा पर सीधे छक्के के साथ 33 गेंद में अर्धशतक पूरा किया। वह हालांकि इसी स्पिनर पर इसी शॉट को दोहराने की कोशिश में लांग ऑफ पर मसाकाद्जा को कैच दे बैठे।ऋषभ पंत सिर्फ तीन रन बनाने के बाद विलियम्स का शिकार बने। New Zealand vs Pakistan, Sydney (Weds 9) India vs England, Adelaide (Thurs 10) Excited for the semi-finals?! #T20WorldCup pic.twitter.com/8kKupCo3W6 — Wisden (@WisdenCricket) November 6, 2022 बांग्लादेश को 5 विकेट से हराकर पाकिस्तान टी20 विश्व कप सेमीफाइनल में, न्यूजीलैंड से होगा मुकाबला एडीलेड: पाकिस्तान ने बेहतरीन गेंदबाजी प्रदर्शन की बदौलत रविवार को यहां ग्रुप दो के अपने महत्वपूर्ण हुए अंतिम मुकाबले में बांग्लादेश को पांच विकेट से हराकर टी20 विश्व कप के सेमीफाइनल के लिये क्वालीफाई किया।ग्रुप बी में दूसरी टीम होने के कारण अब पाकिस्तान का मुकाबला 9 तारीख को न्यूजीलैंड से होगा। सुपर 12 चरण में भारत और जिम्बाब्वे से हार के बाद टूर्नामेंट से बाहर होने की कगार पर खड़ी पाकिस्तानी टीम के लिये उम्मीद तब जगी जब नीदरलैंड ने इसी स्थल पर हुए दिन के एक अन्य मैच में 13 रन की यादगार जीत से दक्षिण अफ्रीका को टूर्नामेंट से बाहर कर दिया। नीदरलैंड की इस उलटफेर भरी जीत से सिर्फ भारत का ही सेमीफाइनल स्थान सुनिश्चित नहीं हुआ बल्कि इससे पाकिस्तान और बांग्लादेश के बीच मुकाबला ‘वर्चुअल क्वार्टरफाइनल’ बन गया जिसकी विजेता टीम अंतिम चार में पहुंचती। टॉस जीतकर बल्लेबाजी करने उतरी बांग्लादेश की टीम ने मुश्किल पिच पर बायें हाथ के सलामी बल्लेबाज नजमुल हुसैन शांटो की 48 गेंद में 54 रन की पारी की बदौलत तेज शुरूआत की। लेकिन बांग्लादेश की टीम अंत में रन नहीं जुटा सकी जिसमें शाहीन अफरीदी (22 रन देकर चार विकेट) की गेंदबाजी ने अहम भूमिका अदा की। अफरीदी के टी20 अंतरराष्ट्रीय में करियर के सर्वश्रेष्ठ पदर्शन से पाकिस्तान ने प्रतिद्वंद्वी टीम को आठ विकेट पर 127 रन के स्कोर पर रोक दिया। इस लक्ष्य का पीछा करने उतरी पाकिस्तान ने नियमित अंतराल पर विकेट गंवा दिये जिससे टीम एक समय मुश्किल स्थिति में दिख रही थी। लेकिन शान मसूद ने संयम बरतते हुए टीम को 11 गेंद रहते जीत दिलायी। पाकिस्तान ने अपने दोनों सलामी बल्लेबाज बाबर आजम (25 रन) और मोहम्मद रिजवान (32 रन) के विकेट जल्द ही गंवा दिये, जिसके बाद मोहम्मद हारिस ने 18 गेंद में 31 रन की महत्वपूर्ण पारी खेली। जब टीम को सात रन चाहिए थे तो हारिस गेंद को टाइम नहीं कर सके और बांग्लादेश के कप्तान शाकिबुल हसन को कैच देकर आउट हुए। पाकिस्तान ने इफ्तिखार अहमद के रूप में एक और विकेट गंवा दिया लेकिन तब जीत के लिये केवल दो रन चाहिए थे। पाकिस्तानी कप्तान आजम कुछ रन बनाने के लिये बेताब दिख रहे थे। उनके सलामी जोड़ीदार मोहम्मद रिजवान को शून्य पर जीवनदान मिला जब बांग्लादेश के विकेटकीपर नुरूल हसन पहले ही ओवर में उनका कैच लपकने का मौका चूक गये। इन दोनों ने पहले विकेट के लिये 57 रन की भागीदारी की। लक्ष्य इतना बड़ा नहीं था तो रन रेट का दबाव भी नहीं था लेकिन पावरप्ले में शानदार गेंदबाजी करने वाले बायें हाथ के स्पिनर नासुम अहमद (14 रन देकर एक विकेट) ने 11वें ओवर में आजम का विकेट झटक लिया। फिर इबादत हुसैन ने अगले ओवर में रिजवान को आउट किया। तब पाकिस्तान को जीत के लिये 48 गेंद में 59 रन बनाने थे। हारिस ने इबादत पर एक चौका और छक्का जड़कर शुरूआत की। इससे पहले शांटो ने टूर्नामेंट में अपना दूसरा अर्धशतक लगाया। इस दौरान वह बेहतरीन लय में दिखे और उन्होंने बड़ी सहजता से गेंद सीमारेखा तक पहुंचायी। लिटन दास के जल्दी आउट होने के बाद शांटो और सौम्य सरकार (20 रन, 17 गेंद, एक चौका, एक छक्का) ने दूसरे विकेट के लिये 47 गेंद में 72 रन की साझेदारी निभाकर बांग्लादेश के लिये अच्छी नींव रखी। इस समय ऐसा लग रहा था कि टीम 150 रन से ज्यादा का स्कोर बना लेगी लेकिन फिर शादाब खान (30 रन देकर दो विकेट) ने विकेट गिराने का सिलसिला शुरू किया। इस लेग स्पिनर ने दो गेंद में दो विकेट झटक लिये जिसमें बांग्लादेशी कप्तान शाकिबुल हसन का शून्य पर संदिग्ध डीआरएस आउट होना भी शामिल रहा। शांटो का ध्यान भंग नहीं हुआ और वह आराम से अपनी पारी आगे बढ़ाते रहे। इस तरह उन्होंने 46 गेंद अपने 50 रन पूरे किये। लेकिन पाकिस्तानी कप्तान बाबर आजम की ऑफ स्पिनर इफ्तिखार अहमद को गेंदबाजी पर लगाने की रणनीति कारगर रही जिन्होंने शांटो को आउट कर लगाम कसी। इस गेंदबाज ने तीन ओवर में 15 रन देकर एक विकेट हासिल किया। फिर अफरीदी ने दो ओवर में छह गेंद में मोसादेक हुसैन, नुरूल हसन और तास्किन अहमद के विकेट झटके। तेज गेंदबाज हारिस रऊफ ने भी अच्छी गेंदबाजी करते हुए 21 रन देकर एक विकेट प्राप्त किया।(भाषा)



		 T20 World Cup में जिम्बाब्वे पर 71 रनों की शानदार जीत से भारत ग्रुप बी में रहा शीर्ष पर
Nov 6 2022 9:45:29

T20 World Cup में जिम्बाब्वे पर 71 रनों की शानदार जीत से भारत ग्रुप बी में रहा शीर्ष पर

सूर्यकुमार यादव (61 नाबाद) के विस्फोटक अर्द्धशतक के बाद रविचंद्रन अश्विन (22/3) की अगुवाई में गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन की बदौलत भारत ने रविवार को टी20 विश्व कप 2022 के सुपर-12 मुकाबले में ज़िम्बाब्वे को 71 रन से रौंदकर सेमीफाइनल में जगह बनाई।भारत ने ग्रुप-2 के आखिरी मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए ज़िम्बाब्वे को 187 रन का लक्ष्य दिया, जिसके जवाब में जि़म्बाब्वे 115 रन पर ऑलआउट हो गई। सूर्यकुमार ने एक बार फिर अपनी 360 डिग्री बल्लेबाजी से विपक्षी टीम को पस्त किया। उन्होंने अपनी अर्द्धशतकीय पारी में 25 गेंदों पर छह चौकों और चार छक्कों की बदौलत 61 रन बनाये और भारत को मजबूत स्कोर तक पहुंचाया। ज़िम्बाब्वे ने लक्ष्य का पीछा करते हुए 36 रन पर ही अपनी आधी टीम गंवा दी। रायन बर्ल (35) और सिकंदर रज़ा (34) ने ज़िम्बाब्वे के लिये संघर्ष किया लेकिन इससे हार का अंतर ही कम हुआ। भारत ने सुपर-12 के पांच मैचों में आठ पॉइंट हासिल करके अपने ग्रुप में पहला स्थान हासिल किया। सेमीफाइनल में रोहित शर्मा की टीम का सामना इंग्लैंड से होगा। ग्रुप-2 से सेमीफाइनल में पहुंचने वाली दूसरी टीम पाकिस्तान को न्यूजीलैंड से मुकाबला करना है। भारत ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी चुनी और कप्तान रोहित शर्मा (15) का विकेट जल्दी गंवाने के बावजूद पावरप्ले में 46 रन जोड़ लिये। राहुल और विराट कोहली ने दूसरे विकेट के लिये 60 रन की साझेदारी की। कोहली 25 गेंदों पर 26 रन ही बना सके, लेकिन राहुल ने टूर्नामेंट का अपना दूसरा अर्द्धशतक जड़ते हुए 35 गेंदों पर तीन चौकों और तीन छक्कों की बदौलत 51 रन की पारी खेली। टी20 विश्व कप 2022 में अपना पहला मैच खेल रहे ऋषभ पंत तीन रन बनाकर रायन बर्ल के दर्शनीय कैच की भेंट चढ़ गये। ज़िम्बाब्वे ने मध्य ओवरों में कोहली, राहुल और पंत का विकेट लेकर मैच में वापसी करनी चाही लेकिन सूर्यकुमार ने एक बार फिर अपनी विस्फोटक बल्लेबाजी से विपक्षी टीम को असहाय कर दिया। सूर्यकुमार ने एक और तेज अर्द्धशतक जमाते हुए 25 गेंदों पर छह चौकों और चार छक्कों की बदौलत नाबाद 61 रन बनाये। वह पाकिस्तान के मोहम्मद रिज़वान (2021) के बाद एक साल में 1000 से ज्यादा टी20 अंतरराष्ट्रीय रन बनाने वाले दूसरे बल्लेबाज भी बन गए।सूर्यकुमार की बदौलत भारत ने आखिरी पांच ओवरों में 79 रन जोड़े और 20 ओवरों में 186/5 का स्कोर खड़ा किया। लक्ष्य का पीछा करने उतरी ज़िम्बाब्वे की आधी टीम 36 रन पर ही पवेलियन लौट गयी। भुवनेश्वर कुमार ने पहला ओवर मेडेन फेंकते हुए वेस्ले माधेवेरे को आउट किया जबकि अर्शदीप सिंह ने रेजिस चकाब्वा को शून्य रन पर बोल्ड किया। हार्दिक पांड्या ने अपनी ही गेंद पर क्रेग इर्विन (13) का कैच पकड़ा जबकि मोहम्मद शमी ने शॉन विलियम्स और टेनी मुन्योंगा को आउट किया। रज़ा और बर्ल ने हालांकि शेवरन्स के लिये संघर्ष किया और छठे विकेट के लिये 60 रन जोड़े। बर्ल ने 22 गेंदों पर पांच चौके और एक छक्का लगाकर 35 रन बनाये जबकि रज़ा ने 24 गेंदों पर तीन चौकों के साथ 34 रन की पारी खेली। दोनों बल्लेबाजों ने ज़िम्बाब्वे की पारी को संभाल लिया था लेकिन बड़े लक्ष्य का दबाव बहुत ज्यादा था। अश्विन ने पारी के 14वें ओवर में बर्ल को आउट करने के बाद वेलिंगटन मसाकादज़ा और रिचर्ड नगारवा को पवेलियन भेज दिया। विशाल लक्ष्य के दबाव में रज़ा भी हार्दिक पांड्या की गेंद पर छक्का लगाने के प्रयास में आउट हो गये। पारी के 18वें ओवर में टेंडाई चटारा का विकेट गिरने के साथ ज़िम्बाब्वे की पारी समाप्त हुई और भारत ने यह मैच 71 रन से जीत लिया। इस जीत के साथ भारत ग्रुप-2 की अंक तालिका में शीर्ष पर रहा, जबकि दूसरे स्थान पर रहकर पाकिस्तान ने भी सेमीफाइनल के लिये क्वालीफाई किया।



		 फिर चोकर्स साबित हुई दक्षिण अफ्रीका, कप्तान और कोच ने कहे दुख में यह शब्द
Nov 6 2022 9:45:29

फिर चोकर्स साबित हुई दक्षिण अफ्रीका, कप्तान और कोच ने कहे दुख में यह शब्द

एडीलेड:दक्षिण अफ्रीका के कप्तान तेम्बा बावुमा ने कहा कि टी20 विश्व कप से बाहर होने की बात स्वीकार करना मुश्किल है क्योंकि उनकी टीम रविवार को कमजोर नीदरलैंड से हारकर फिर से एक और आईसीसी टूर्नामेंट से बाहर हो गयी।दक्षिण अफ्रीका को नीदरलैंड ने सुपर 12 मुकाबले में 13 रन से हराकर टूर्नामेंट के ग्रुप चरण से बाहर कर दिया। दक्षिण अफ्रीका की टीम आईसीसी टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन करने के बावजूद अंत में हार जाती है इसलिये उसे ‘चोकर्स’ कहा जाता है। मैच के बाद निराश बावुमा ने कहा, ‘‘इसे पचा पाना मुश्किल है। एकजुट इकाई के तौर पर हमें प्लेऑफ में पहुंचने का भरोसा था। ’’दमदार तेज गेंदबाजी आक्रमण रखने वाली दक्षिण अफ्रीका को सेमीफाइनल में पहुंचने के लिये कमजोर नीदरलैंड को हराने की जरूरत थी। लेकिन इस उलटफेर भरी हार से पाकिस्तान और बांग्लादेश के बीच मुकाबला ‘करो या मरो’ का बन गया जिससे ग्रुप दो की सेमीफाइनल में प्रवेश करने वाली दूसरी टीम तय होगी।दक्षिण अफ्रीका के हारने से भारत का जिम्बाब्वे के खिलाफ मुकाबले के परिणाम से पहले ही अंतिम चार में स्थान सुनिश्चित हो गया था। बावुमा ने कहा, ‘‘दुर्भाग्य से हम जीत नहीं सके। टॉस जीतकर गेंदबाजी करना आदर्श नहीं रहा। हमने अहम मौकों पर विकेट गंवाये। उन्होंने मैदान का अच्छा इस्तेमाल किया जो हम नहीं कर सके।’’दक्षिण अफ्रीका की टीम हमेशा टूर्नामेंट से पहले प्रबल दावेदारों में शुमार होती है लेकिन आईसीसी टूर्नामेंट के अंत में बाहर हो जाती है और टीम अभी तक विश्व कप के फाइनल में नहीं पहुंच सकी है। टीम 2009 और 2014 में दो बार टी20 विश्व कप में सेमीफाइनल चरण में बाहर हुई।वनडे विश्व कप में वह चार मौकों पर 1992, 1999, 2007 और 2015 में अंतिम चार में हार गयी। किसी भी प्रारूप में दक्षिण अफ्रीका पर पहली जीत दर्ज करने के बाद नीदरलैंड के कप्तान स्कॉट एडवर्ड्स के पास इस खुशी को बयां करने के लिये शब्द ही नहीं थे।उन्होंने कहा, ‘‘काफी कुछ कहना है, लेकिन इसे बताने में थोड़ा समय लगेगा। नीदरलैंड की विश्व कप में एक और बड़ी उलटफेर भरी जीत। ’’सुपर 12 चरण में यह नीदरलैंड की दूसरी जीत थी, उसने इससे पहले जिम्बाब्वे को पांच विकेट से हराया था। नीदरलैंड के खिलाफ हार कोच के रूप में सबसे बुरी: बाउचर दक्षिण अफ्रीका के निवर्तमान कोच मार्क बाउचर ने रविवार को यहां नीदरलैंड के हाथों मिली हार को कोच के रूप में उनकी सबसे बुरी पराजय करार दिया, क्योंकि इससे उनकी टीम टी20 विश्वकप से बाहर हो गई। जिंबाब्वे के खिलाफ मैच बारिश की भेंट चढ़ने के बाद दक्षिण अफ्रीका बांग्लादेश और भारत पर जीत के कारण ग्रुप दो में शीर्ष पर पहुंच गया था। उसे अंतिम चार में पहुंचने के लिए नीदरलैंड पर केवल जीत की दरकार थी। नीदरलैंड की टीम ने चार विकेट पर 158 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर खड़ा किया और फिर इसके बाद दक्षिण अफ्रीका को आठ विकेट पर 145 रन पर रोककर 13 रन से जीत दर्ज की। बाउचर से पूछा गया कि आखिर गलती कहां हुई, उन्होंने कहा,‘‘ हमने जिस तरह से शुरुआत की अगर आप उस पर गौर करो तो हमारे खिलाड़ी ऊर्जावान नहीं थे। फिर चाहे इसका कारण मैच का सुबह शुरू होना हो या कुछ और हमारे लिए यह समय वास्तव में मुश्किल था।’’ दक्षिण अफ्रीका को एक बार फिर से विश्वकप से जल्दी बाहर होना पड़ा। वह अभी तक वनडे या टी20 विश्व कप के फाइनल में जगह नहीं बना पाया है। बाउचर ने कहा,‘‘ ईमानदारी से कहूं तो मैं बेहद निराश महसूस कर रहा हूं। मेरा मानना है कि यह टीम को बेहतर मौके की हकदार थी लेकिन दुर्भाग्य से ऐसा नहीं हुआ जो कि मेरे लिए बेहद निराशाजनक है और निश्चित तौर पर हमारे प्रत्येक खिलाड़ी के लिए यह निराशाजनक है।’’ दक्षिण अफ्रीका की अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी के बाद 1992 के वनडे विश्व कप से ही उसके साथ यह कहानी जुड़ गई थी। तब इंग्लैंड के खिलाफ सेमीफाइनल में उसे 13 गेंदों पर 22 रन की जरूरत थी लेकिन बारिश के कारण खेल रुक गया और आखिर में उसे एक गेंद पर 21 रन बनाने की चुनौती मिली। इसके बाद 1999 के विश्वकप सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उसे चार गेंदों पर केवल एक रन की जरूरत थी लेकिन एनल डोनाल्ड के रन आउट होने के बाद ऑस्ट्रेलिया ने वापसी की और फाइनल में जगह बनाई। विश्व कप 2003 ने वह अच्छी स्थिति में था लेकिन डकवर्थ लुईस का आंकड़े का सही आकलन नहीं कर पाए और श्रीलंका के खिलाफ मैच टाई छूटने के कारण टूर्नामेंट से बाहर हो गए। इसके अलावा उसे 2007 और 2015 के वनडे विश्वकप में भी सेमीफाइनल में हार झेलनी पड़ी। टी20 विश्व कप में दक्षिण अफ्रीका में दो बार 2009 और 2014 में सेमीफाइनल में जगह बनाई थी। बाउचर से पूछा गया क्या नीदरलैंड के खिलाफ हार सभी में सबसे बुरी थी, उन्होंने कहा,‘‘ मेरे कोच रहते हुए यह शायद सबसे बुरी हार है। यह बेहद निराशाजनक है क्योंकि खिलाड़ी के रूप में आप कुछ तो कर सकते हैं जबकि कोच के तौर पर आपको अच्छा प्रदर्शन करने के लिए दूसरों पर निर्भर रहना पड़ता है। कोच के रूप में मेरे लिए यह निश्चित तौर पर सबसे बुरी हार है।’’(भाषा)



		 ऋषभ पंत को आखिरकार रोहित ने टॉस जीतकर दिया मौका, जिम्बाब्वे के खिलाफ भारत की बल्लेबाजी
Nov 6 2022 3:22:31

ऋषभ पंत को आखिरकार रोहित ने टॉस जीतकर दिया मौका, जिम्बाब्वे के खिलाफ भारत की बल्लेबाजी

पुनः संशोधित रविवार, 6 नवंबर 2022 (13:18 IST) हमें फॉलो करें रोहित शर्मा ने ग्रुप बी के अंतिम मैच में टॉस जीतकर जब यह कहा कि आज टीम इंडिया में एक बदलाव है और ऋषभ पंत दिनेश कार्तिक की जगह खेलेंगे तो भारतीय फैंस खुशी से झूम उठे। यह पहली बार होगा ऋषभ पंत को बतौर बल्लेबाज कीपर भारतीय टीम में टी-20 विश्वकप में शामिल किया जाएगा। इससे पहले ऋषभ पंत को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ कीपिंग करने का मौका मिला था जब दिनेश कार्तिक को चोट लग गई थी। भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने इसके साथ जिम्बाब्वे के खिलाफ पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। गौरतलब है कि भारत पहले ही टी-20 विश्वकप के सेमीफाइनल में पहुंच चुका है और यह मैच नतीजे पर सिर्फ इतना फर्क डालेगा कि अगर भारत हारती है तो वह ग्रुप की दूसरी टीम बनेगी।



		 सेमीफाइनल में पहुंचने के लिए श्रीलंका ने इंग्लैंड को दिया 142 रनों का लक्ष्य
Jan 1 1900 12:00:00

सेमीफाइनल में पहुंचने के लिए श्रीलंका ने इंग्लैंड को दिया 142 रनों का लक्ष्य

टी-20 विश्वकप के सेमीफाइनल में पहुंचने के लिए श्रीलंका ने इंग्लैंड को 142 रनों का लक्ष्य दे दिया है। सिडनी में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी श्रीलंका की शुरुआत खासी अच्छी रही लेकिन बीच के और अंत के ओवरों में रन गति को ना बढ़ा पाने के कारण वह 8 विकेट पर सिर्फ 141 रन ही बना सकी। श्रीलंका ने पथुम निसंका (67) के शानदार अर्द्धशतक की मदद से इंग्लैंड के सामने टी20 विश्व कप 2022 के सुपर-12 मुकाबले में शनिवार को 142 रन का लक्ष्य रखा।निसंका ने श्रीलंका को सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाने के लिये 45 गेंदों पर दो चौकों और पांच छक्कों की बदौलत 67 रन बनाये। भानुका राजपक्षे ने भी 22 गेंदों पर इतने ही रन का योगदान दिया। श्रीलंका ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी चुनी और निसंका ने कुसल मेंडिस (18) के साथ पारी की विस्फोटक शुरुआत की। मेंडिस के आउट होने के बाद भी निसंका ने तेजी से रन बनाना जारी रखा, हालांकि दूसरे छोर से विकेट गिरते रहे। तेज गेंदबाजों के खिलाफ अच्छी शुरुआत करने के बाद श्रीलंका स्पिन गेंदबाजी के सामने बेअसर नजर आई। श्रीलंका ने आठ ओवर में एक विकेट गंवाकर 71 रन बना लिये थे, लेकिन लगातार विकेट गंवाने के कारण वह अगले 12 ओवरों में सिर्फ 70 रन ही जोड़ सके। आदिल रशीद ने जहां चार ओवर में सिर्फ 16 रन देकर निसंका का बहुमूल्य विकेट लिया, वहीं बेन स्टोक्स, सैम करन और क्रिस वोक्स ने भी एक-एक विकेट निकाला। अपने पहले ओवर में 17 रन देने वाले मार्क वुड ने भी शानदार वापसी की और 20वें ओवर में तीन विकेट लेते हुए श्रीलंका को 141/8 के स्कोर पर रोक दिया।



		 श्रीलंका को 4 विकेटों से हराकर लगातार तीसरी बार T20 World Cup के सेमीफाइनल में पहुंची इंग्लैंड
Jan 1 1900 12:00:00

श्रीलंका को 4 विकेटों से हराकर लगातार तीसरी बार T20 World Cup के सेमीफाइनल में पहुंची इंग्लैंड

सिडनी में खेले गए ग्रुप 1 के अंतिम सुपर 12 मुकाबले में इंग्लैंड ने श्रीलंका को 4 विकेटों से हराकर टी-20 विश्वकप सेमीफाइनल में जगह बना ली। टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करके श्रीलंका ने 8 विकेट पर 141 रन बनाए। इसके जवाब में इंग्लैंड ने अंतिम ओवर में 6 विकेट खोकर यह लक्ष्य हासिल किया।बेन स्टोक्स की संकटमोचक 44 रनों की पारी की बदौलत इंग्लैंड ने शनिवार को टी20 विश्व कप 2022 के रोमांचक सुपर-12 मुकाबले में श्रीलंका को चार विकेट से हराकर सेमीफाइनल में जगह बनाई। श्रीलंका ने ग्रुप-1 के मैच में पथुम निसंका (67) की अर्द्धशतकीय पारी की मदद से इंग्लैंड के सामने 142 रन का लक्ष्य रखा, जिसे इंग्लैंड ने दो गेंदें रहते हुए हासिल कर लिया।निसंका ने श्रीलंका को सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाने के लिये 45 गेंदों पर दो चौकों और पांच छक्कों की बदौलत 67 रन बनाये, जबकि भानुका राजपक्षे ने 22 गेंदों पर इतने ही रन का योगदान दिया। इंग्लैंड ने करो या मरो मैच में लक्ष्य का पीछा करते हुए बिना विकेट गंवाये 75 रन बना लिये थे, लेकिन श्रीलंकाई स्पिनरों ने यहां उनकी मुश्किलें बढ़ा दीं। वानिंदू हसरंगा और धनन्जय डी सिल्वा ने रनों की रफ्तार कम करते हुए आपस में चार विकेट निकाले, जबकि लाहिरू कुमारा ने भी दो बल्लेबाजों को पवेलियन भेजा। मध्य ओवरों में श्रीलंका की शानदार गेंदबाजी की बदौलत इंग्लैंड का स्कोर नौ ओवर में 75/0 से 18 ओवर में 129/6 हो गया। एक छोर से जहां विकेट गिरते रहे, वहीं स्टोक्स ने दूसरा छोर संभाले रखा और कम स्कोर वाले मैच में इंग्लैंड की जीत सुनिश्चित की। स्टोक्स ने 36 गेंदों पर दो चौकों के साथ नाबाद 44 रन बनाये, जबकि आठवें नंबर के बल्लेबाज क्रिस वोक्स (05 नाबाद) ने चौका लगाकर इंग्लैंड को लक्ष्य तक पहुंचाया। इस जीत के साथ इंग्लैंड ग्रुप-1 से सेमीफाइनल में पहुंचने वाली दूसरी टीम बन गई है, जबकि इस नतीजे के कारण मेज़बान ऑस्ट्रेलिया टूर्नामेंट से बाहर हो गई। न्यूजीलैंड इस ग्रुप से पहले ही सेमीफाइनल में जगह बना चुकी है। श्रीलंका की तरह ही इंग्लैंड की शुरुआत भी अच्छी रही और सलामी बल्लेबाजों ने पहले विकेट के लिये 75 रन जोड़े। कप्तान जॉस बटलर ने 23 गेंदों पर दो चौके और एक छक्का लगाकर 28 रन बनाये जबकि एलेक्स हेल्स ने 30 गेंदों पर सात चौकों और एक छक्के की बदौलत 47 रन की पारी खेली। इंग्लैंड इस साझेदारी की मदद से जीत की ओर अग्रसर थी लेकिन श्रीलंकाई स्पिनरों ने मैच को रोमांचक बना दिया। वानिंदू हसरंगा ने दोनों सलामी बल्लेबाजों को चलता किया, जबकि धनन्जय डी सिल्वा ने हैरी ब्रूक और मोईन अली को आउट किया। लगातार गिरते विकेटों के दबाव में लायम लिविंग्सटन और सैम करेन लाहिरू कुमारा का शिकार हो गये। The final standings in Group 1! New Zealand will play the first semi-final in Sydney on Wednesday; England will face the winner of Group 2 in Adelaide on Thursday. #T20WorldCup pic.twitter.com/sNon6YOJyJ — ESPNcricinfo (@ESPNcricinfo) November 5, 2022 इंग्लैंड को आखिरी दो ओवरों में 12 रनों की दरकार थी। डेविड मलान पैर की चोट के कारण बल्लेबाजी करने नहीं आ सके, लेकिन स्टोक्स और वोक्स ने सातवें विकेट के लिये 15 रन की बहुमूल्य साझेदारी करके अपनी टीम को जीत दिलाई।ग्रुप-1 से न्यूजीलैंड और इंग्लैंड सेमीफाइनल में पहुंच गए हैं, जबकि गत चैंपियन और मेज़बान ऑस्ट्रेलिया का सफर टी20 विश्व कप 2022 में समाप्त हो गया है।



		 एशिया कप चैंपियन श्रीलंका इंग्लैड से हारकर हुई T20 World Cup से बाहर
Jan 1 1900 12:00:00

एशिया कप चैंपियन श्रीलंका इंग्लैड से हारकर हुई T20 World Cup से बाहर

पुनः संशोधित शनिवार, 5 नवंबर 2022 (17:44 IST) हमें फॉलो करें इंग्लैंड ने बेन स्टोक्स (नाबाद 42 रन) के अनुभव की बदौलत शनिवार को यहां सुपर-12 के ग्रुप एक के महत्वपूर्ण मैच में श्रीलंका को चार विकेट से हराकर टी20 विश्व कप के सेमीफाइनल में प्रवेश किया जिससे एशिया कप चैंपियन चैम्पियन श्रीलंका का अभियान ग्रुप चरण में ही समाप्त हो गया।श्रीलंका सुपर 12 में किसी भी बड़ी टीम को नहीं हरा पाया और उसे ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड और अब इंग्लैंड से हार का सामना करना पड़ा। वैसे तो इस टी-20 विश्वकप का पहला ही मैच श्रीलंका नामीबिया से हार गया था और फिर संभल कर सुपर 12 पहुंचा था। श्रीलंका ने सलामी बल्लेबाज पाथुम निसांका (45 गेंद में 67 रन) की शानदार अर्धशतकीय पारी से शानदार शुरूआत की। लेकिन इंग्लैंड के गेंदबाजों ने वापसी करते हुए उसे आठ विकेट पर 141 रन ही बनाने दिये। एससीजी की सूखी पिच पर इस लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्लैंड ने सलामी बल्लेबाज एलेक्स हेल्स (47 रन, 30 गेंद, सात चौके, एक छक्का) और कप्तान जोस बटलर (28 रन, 23 गेंद, दो चौके, एक छक्का) ने पहले विकेट के लिये 43 गेंद में 75 रन की साझेदारी की बदौलत अच्छी शुरूआत की। फिर टीम को 77 गेंद में महज 67 रन की दरकार थी लेकिन श्रीलंकाई स्पिनर वानिंदु हसारंगा डिसिल्वा (23 रन देकर दो विकेट) ने विकेट झटकने की शुरूआत की और कुछ ही देर में इंग्लैंड की आधी टीम पवेलियन पहुंच गयी थी।हसारंगा ने इंग्लैंड के दोनों सलामी बल्लेबाजों को महज सात रन के अंदर आउट कर दिया जिसके बाद धनंजय डिसिल्वा (24 रन देकर दो विकेट) और लाहिरू कुमारा (24 रन देकर दो विकेट) ने विकेट झटके। इंग्लैंड ने तीसरे नंबर के बल्लेबाज डेविड मलान के चोटिल (ग्रोइन) होने के कारण बल्लेबाजी क्रम में फेरबदल किया। टीम को 33 गेंद में 31 रन की जरूरत थी जब मोईन अली (01) धनंजय डिसिल्वा का दूसरा शिकार बने। लेकिन इंग्लैंड के टेस्ट कप्तान स्टोक्स ने संयम से खेलते हुए अपनी पारी की 36वीं गेंद पर चौका जड़कर टीम को दो गेंद रहते जीत तक पहुंचाया। इसमें क्रिस वोक्स (नाबाद 05 रन) ने उनका साथ दिया और 15 रन की साझेदारी की। इंग्लैंड ग्रुप एक में न्यूजीलैंड के बाद दूसरे स्थान पर रही और अब अंतिम चार में उसका सामना ग्रुप दो की शीर्ष टीम से होगा।इससे पहले श्रीलंका ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी का फैसला किया और निसांका ने 33 गेंद में अर्धशतक जड़कर अच्छी शुरूआत करायी। इस स्टाइलिश सलामी बल्लेबाज ने इंग्लैंड के आक्रमण की धज्जियां उड़ाते हुए 45 गेंद में पांच छक्के और दो चौके जमाये। लेकिन लेग स्पिनर आदिल राशिद (चार ओवर में 16 रन देकर एक विकेट) ने टूर्नामेंट में पहला विकेट निसांका के रूप में लेकर रूख बदल दिया। तेज गेंदबाज सैम कुरेन (चार ओवर में 27 रन देकर एक विकेट) ने बीच के ओवरों में कसा स्पैल डाला जिससे आठ रन से ज्यादा प्रति ओवर की लय से चल रही श्रीलंकाई टीम की रन गति पर लगाम लग गयी। बल्लेबाजी क्रम में नीचे ‘पावरहिटर’ की कमी का श्रीलंका को खामियाजा भुगतना पड़ा क्योंकि ‘बाउंड्री’ लगनी बंद हो गयी और टीम अंतिम पांच ओवर में महज 25 रन ही जोड़ सकी तथा इस दौरान उन्होंने पांच विकेट भी गंवा दिये। इंग्लैंड के तेज गेंदबाज मार्क वुड ने भी खराब शुरूआत से वापसी करते हुए 26 रन देकर तीन विकेट झटक लिये जिससे श्रीलंकाई टीम 15-20 रन कम बना सकी। इंग्लैंड के टेस्ट कप्तान बेन स्टोक्स ने नयी गेंद से शुरूआत की जिससे श्रीलंका के सलामी बल्लेबाज कुसाल मेंडिस और निसांका ने भी सतर्क शुरूआत की। कप्तान जोस बटलर ने तीसरे ओवर में वुड को गेंदबाजी पर लगाया और मेंडिस ने उनकी पहली ही गेंद पर डीप स्क्वायर लेग पर एक छक्का जड़ दिया। निसांका ने भी इसी ओवर में एक और छक्का जमा दिया जिससे इस ओवर में 17 रन जुड़े। पर लियाम लिविंगस्टोन ने शानदार कैच लपककर मेंडिस की पारी खत्म की जिन्होंने 14 गेंद में एक चौके और एक छक्के से 18 रन जोड़े।राशिद जब गेंदबाजी करने उतरे तो श्रीलंका की रन गति कम हो गयी और दूसरे छोर पर विकेट गिरते रहे लेकिन निसांका डटे रहे जिन्होंने विश्व कप में अपना दूसरा और कुल नौंवा अर्धशतक जमाया। लेकिन राशिद और कुरेन ने अपने वैरिएशन से अंत में श्रीलंकाई बल्लेबाजी पर अंकुश लगाया।निसांका लेग स्पिनर राशिद पर शॉट खेलने के प्रयास में स्थानापन्न क्रिस जोर्डन को कैच देकर आउट हुए। भानुका राजपक्षे ने 22 रन का योगदान दिया।



		 T20 World Cup से गत विजेता और मेजबान ऑस्ट्रेलिया हुआ बाहर, नहीं पहुंच पाया सेमीफाइनल में
Jan 1 1900 12:00:00

T20 World Cup से गत विजेता और मेजबान ऑस्ट्रेलिया हुआ बाहर, नहीं पहुंच पाया सेमीफाइनल में

WD Sports Desk| पहले ही मैच में न्यूजीलैंड से 89 रनों से करारी शिकस्त झेलने के बाद ऑस्ट्रेलिया के ऊपर टी-20 विश्वकप से बाहर निकलने की तलवार लटक रही थी। लेकिन अब यह पक्का हो गया है कि मेजबान ऑस्ट्रेलिया और गत विजेता अपना खिताब नहीं बचा पाएगा क्योंकि वह टी-20 विश्वकप के सेमीफाइनल में नहीं पहुंच पाया है। न्यूजीलैंड से हारने के बाद ऑस्ट्रेलिया ने 7 विकेटों से श्रीलंका को हराया था। इसके बाद इंग्लैंड से होने वाला अहम मुकाबला बारिश से धुल गया था। इसके बाद से ही दोनों एशेज प्रतिद्वंदी के बीच में रनरेट को लेकर कड़ा मुकाबला चला जिसमें हमेशा ही इँग्लैंड ऑस्ट्रेलिया पर बीस दिखी। चोटों से परेशान रही ऑस्ट्रेलिया गत चैम्पियन ऑस्ट्रेलिया शुक्रवार को अफगानिस्तान के खिलाफ होने वाले टी20 विश्व कप के महत्वपूर्ण मैच से पहले कप्तान आरोन फिंच सहित तीन प्रमुख खिलाड़ियों की चोट की चिंताओं से जूझ रहा था। फिंच के अलावा टिम डेविड और मार्कस स्टोइनिस को सोमवार को ब्रिसबेन में आयरलैंड पर ऑस्ट्रेलिया की 42 रन की जीत के दौरान पैर की मांसपेशियों में खिंचाव का सामना करना पड़ा था। इसके चलते तीनों को ही आखिरी लीग मैच के दौरान आराम दिया गया था और विकेटकीपर मैथ्यू वेड ने कप्तानी संभाली थी। इसका असर दोनों गेंदबाजी और बल्लेबाजी में दिखा। जहां ऑस्ट्रेलिया को न्यूजीलैंड को रोकने के लिए 185 रन बनाने थे तो वहां वह 165 रन बना पाई वहीं अफगानिस्तान को 106 रनों पर समेटने के लिए उसके पास तूफानी गेंदबाज नहीं बचे थे। यह मैच ऑस्ट्रेलिया बमुश्किल 4 रनों से जीत पाई और अपने ही मैदान पर एक बड़े उलटफेर से बची। Defending champions and hosts Australia are OUT #T20WorldCup pic.twitter.com/cAhIOO8AcB — ESPNcricinfo (@ESPNcricinfo) November 5, 2022 इंग्लैंड की श्रीलंका पर 4 विकेटों की जीत से ऑस्ट्रेलिया हुई टी-20 विश्वकप से बाहर आस्ट्रेलिया का अभियान ग्रुप चरण में सात अंक पर खत्म हुआ क्योंकि उनकी उम्मीदें श्रीलंका की इंग्लैंड पर जीत पर टिकी थीं। इंग्लैंड को आज बस सेमीफाइनल में पहुंचने के लिए हारना नहीं था। इंग्लैंड ने बीच बीच में लय खोने के बाद भी श्रीलंका को 4 विकेटों से हराया और खुद की जगह पक्की करके ऑस्ट्रेलिया को बाहर का रास्ता दिखाया।


Load More News...